क्यों नींबू है उपयोगी निरोगी और रोगी सभी के लिए? / कोरोना काल में क्यों बढ़ गई नींबू की मांग?

12 महीने मिलने वाला यह फल स्वाद में खट्टा होता और साइट्रस  (citrus) फल है। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस की भरपूर मात्रा होती है। नींबू में स्वाद और गुण असीमित हैं। इसका उपयोग पेय, अचार या सब्जियों में स्वाद बढ़ाने के लिए होता है।More

श्री कृष्ण भगवान की बहन और यदुवंशियों की कुलदेवी कैलादेवी के चमत्कारी मंदिर का रहस्य

यदुवंशियों (हिन्दू) की कुलदेवी माता कैलादेवी का विश्व प्रसिद्ध चमत्कारी मंदिर राजस्थान के करौली जिले से करीब 24 किमी दूर, त्रिकूट पर्वत पर, कैला ग्राम में है। इसकी शक्तिपीठ की ख्याति भारतवर्ष में सर्वत्र है। कैला देवी मंदिर देवी भक्तों के लिए अति पूजनीय स्थल है। मां कैलादेवी आदिशक्ति महायोगिनी महामाया की अवतार हैं, जिनका जन्म गोकुल में नंदराय जी और यशोदा मैया के घर हुआ था।More

क्यों मनाते हैं शीतलाष्टमी अष्टमी? क्या महत्व है शीतलाष्टमी का?

प्राचीन काल से हिन्दू धर्मावलंबी परम पूज्य देवी शीतला माता की आराधना करते आ रहे हैं। पुराणों में भी माता के महात्म्य का उल्लेख है। शीतला माता हाथों में कलश, सूप, मार्जनMore

सेहत का खजाना मखाना रोजाना क्यों चाहिए खाना Benefits of Makhana in Hindi

व्रत-उपवास में खाया जाने वाला मखाना या कमल के बीज (Fox Nut) पोषक तत्वों का खजाना और औषधियों गुणों से पूर्ण होता है। सूखे मेवे के तौर पर उपयोग किए जाने वाला मखाना की खीर बनाकर या घी में भून कर उपवास या स्नैक्स की तरह खाए जाते हैं।More

Dharm-Sanskriti/फूलैरा दूज क्यों मनाते हैंं?

फूलैरा दूज अथवा ‘फूलैरा दौज’ (फूलों की होली Phulera Dooj) हिन्दू धर्म के मुख्य त्योहारों में से है। फाल्गुन मास, शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को फूलैरा दूज मनायी जाती है, जो बसंत पंचमी और होली बीच मनायी जाती है। More

विश्व विवाह दिवस ( World Marriage Day)

फरवरी माह के दूसरे रविवार को विश्व विवाह दिवस मनाया जाता है। यह दिन पति-पत्नी के प्रेम संबंध प्रगाढ़ बनाने और रिश्तों में ताजगी और मिठास लाने का एक प्रयास है। इस दिन दंपत्ति आजीवन सुख-दुख में हर परिस्थिति में एक-दूसरे का साथ निभाने का वादा करते हैं। 1993 में पोप सेंट पौल द्वितीय ने…More

क्यों मनाया जाता है, वैलेंटाइंस डे,क्या है 14 फरवरी के बलिदान की कहानी ?

14 फरवरी यानि वैलेंटाइंस डे या प्यार का दिन है। वैसे तो प्यार या प्रेम जैसी भावना की अभिव्यक्ति किसी दिन या मूहुर्त की मोहताज नहीं होती। प्यार करने वालों के लिए हर दिन प्यार दिवस होता है। More

षट्तिला एकादशी

माघ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को षट्तिला एकादशी (Shattila Ekadashi) कहते हैं। पद्म और विष्णु पुराण के अनुसार माघ मास के एकादशी और द्वादशी को श्री हरी विष्णु जी का तिल से पूजा और व्रत का बहुत महत्व है।More

किसान नेता चौधरी राकेश सिंह टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। वे उन किसान नेताओं में शुमार रखते हैं, जो किसानो के व्यवहारिक हित की बात रखते हैं और किसान हित के लिए खड़े भी होते हैं। More