सामान्य ज्ञान (General Knowledge – One Liner)

इतिहास (History) – Set 1

1. प्रसिद्ध विजय विट्ठल मंदिर जिसके खंभों से संगीत की ध्वनि आती है, कहां अवस्थित है?
[A] हम्पी,  कर्नाटक

15 वीं शताब्दी में बनी विजय विट्ठल मन्दिर विजय विट्ठल मन्दिर भारत के कर्नाटक राज्य में स्थित है। यह मन्दिर  भगवान विष्णु को समर्पित है। इस मंदिर में कुल 56 स्तम्भ हैं। मंदिर की सबसे महत्त्वपूर्ण बात यह है कि यहाँ पर कुछ ऐसे स्तंभ हैं, जिन्हें यदि हाथ से खटखटाया जाए तो उनमें से संगीत के सातों सुरों की ध्वनियाँ निकलती हैं। इन स्तंभों को ‘संगीत स्तंभ’ या फिर ‘सारेगामा स्तंभ’ भी कहा जाता है।


2. विलियम बैंटिक ने भारतीय समाज में कुछ सुधार कार्य किए उनमें से कौन से महत्वपूर्ण कार्य किये?
[A] सती प्रथा उन्मूलन, ठगी उन्मूलन और नर बलि उन्मूलन

  • विलियम बैंटिक ने एक अधिनियम को लागू करके नरबलि कुप्रथा को समाप्त कर दिया और मानव बलि पर कानूनी प्रतिबंध लगा दिया।
  • 1833 ई. के चार्टर एक्ट के अनुसार, बैंटिक ने भी दास प्रथा की समाप्ति के लिए मार्ग प्रशस्त किया।
  • बैंटिक ने बाल हत्या जो कि एक क्रूर और भयानक अपराध रोकने के लिए कदम उठाए।
  • राजा राममोहन राय के साथ विलियम बैंटिक ने सती प्रथा उन्मूलन के कदम उठाए। 1833 मे सती प्रथा पर रोक का कानून पारित किया।


3. किसे ‘समाचार पत्रों का मुक्तिदाता’ कहा जाता है?
[A] चार्ल्स मेटकॉफ

सर चार्ल्स मैटकौफ 1835-1836ई. भारत का गवर्नर जनरल रहा था। 1 वर्ष के कार्यकाल में मैटकौफ को प्रेस से नियंत्रण हटाने के लिए जाने जाते हैं। मेटकाफ ने समाचार पत्रों पर से 1823 ई. के प्रतिबंध को हटाया, इसी वजह से मैटकौफ को ‘समाचार पत्रों का मुक्ति दाता कहा जाता है।


4. हड़प्पाकालीन नगरों में क़िलेबंदी या नगर-प्राचीरों का निर्माण के पीछे दो प्रमुख कारण क्या थे?
[A] लुटेरों और पशु चोरों से सुरक्षा तथा बाढ़ से बचाव


5. वैदिक काल ‘जन’ किसे दर्शाता है?
[A] कबीला को

6. देशी रियासतों के विलय सम्बंधी प्रक्रिया हेतु एक ‘रियासती मंत्रालय’ गठित किया गया था। इस विभाग का मंत्री किसे बनाया गया था?
[A] सरदार वल्लभभाई पटेल

स्वतंत्रता से पहले भारत में 565 देशी रियासतों थी। देशी रियासतों के मसले हल करने के लिए, 5 जुलाई1947, सरदार वल्लभ भाई पटेल की अध्यक्षता में रियासती सचिवालय की स्थापना की गई। इसके सचिव वी.पी. मेनन बने।


7. प्रांतीय स्वायत्तता की शुरुआत किस अधिनियम के तहत हुई?
[A] 1935

1935 के अधिनियम द्वारा सर्वप्रथम भारत में संघात्मक सरकार की स्थापना की गयी सन् 1935 में प्रांतों को स्वायत्तता, पृथक पहचान, विधि बनाने का दायित्व एवं उसको लागू करने का अधिकार दिया गया।


8. मनुष्य के इतिहास में 7 अवस्थाओं का स्पष्ट उल्लेख करने वाला पहला इतिहासकार कौन था?
[A] सेंट औगस्टिन

9. बंगाल के किस नवाब के समय में मुहम्मद शाह ने  बिहार को बंगाल में शामिल कर दिया?
[A] शुजाउद्दीन

शुजाउद्दीन मोहम्मद खान ने 1732 में बिहार को बंगाल से मिला दिया। सन् 1727 में मुर्शीदकुली खान के मृत्यु के बाद उसका दामाद शुजाउद्दीन मो. खान बंगाल का नवाब बना।


10. 1881 का ‘कारखाना अधिनियम’ किस वायसराय काल की घटना है?
[A] लार्ड रिपन

  • फ्लोरेंस नाइटेंगल ( Florence Nightingale) ने लार्ड रिपन को भारत का उद्धारक की संज्ञा दिया। रिपन 1880 में वायसराय बन कर भारत आए अपने सुधार कार्यों के अन्तर्गत लॉर्ड रिपन ने सन् 1882 में वर्नाकुलर प्रेस एक्ट (Vernacular Press Act) रद्द कर, प्रेस की स्वतंत्रता बहाल किया। इनके सुधार कार्यों में सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण कार्य था- ‘स्थानीय स्वशासन’ की शुरुआत।
  • सर्वप्रथम समाचार-पत्रों की स्वतन्त्रता को बहाल करते 1882. में ‘वर्नाक्यूलर प्रेस एक्ट’ को समाप्त कर दिया। इनके सुधार कार्यों में सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण कार्य था- ‘स्थानीय स्वशासन’ की शुरुआत।
  • रिपन ने भारत में सन् 1881  में सर्वप्रथम जनगणना कराई।
  • सन् 1881 में रिपन पहला कारखाना अधिनियम बनाया।


11. इतिहास सिद्धांत की मुख्य पाठ्य पुस्तक ‘व्हाट इज़ हिस्ट्री’ के लेखक कौन थे?
[A] ई. एच. कार

  • Edward Gallery Carr एक प्रसिद्ध ब्रिटिश इतिहासकार, पत्रकार और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के विचारक और इतिहास के भीतर अनुभववाद के एक प्रतिद्वंद्वी के रूप में जाने जाते हैं।


12. 11 दिसंबर, 1946 ई. की बैठक में किसे संविधान सभा का स्थायी अध्यक्ष चुना गया था?
[A] राजेन्द्र प्रसाद

भारत की संविधान सभा का चुनाव भारतीय संविधान की रचना के लिए किया गया था। ब्रिटेन से स्वतंत्र होने के बाद संविधान सभा के सदस्य ही प्रथम संसद के सदस्य बने 11 दिसंबर 1946 को संविधान सभा की बैठक में डॉ राजेंद्र प्रसाद को स्थायी अध्यक्ष चुना गया, जो अंत तक इस पद पर बने रहें।


13. ब्रिटिश क्राउन का भारतीय रियासतों पर से प्रभुत्व कब समाप्त हो गया?
[A] 1947 के भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम के द्वारा

भारतीय स्वाधीनता अधिनियम 1947 ब्रिटिश संसद द्वारा भारत को मिला उपहार था। तत्कालीन वायसराय लार्ड माउंटबेटन की योजना पर आधारित यह विधेयक 4 जुलाई, 1947 को ब्रिटिश संसद में पेश किया गया और 18 जुलाई, 1947 को शाही सिफारिश मिलने पर यह विधेयक अधिनियम बना।

14. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी’ की स्थापना अक्टूबर, 1920 ई. में मानवेन्द्र रौय ने कहां की गई?
[A] ताशकंद

  • भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी’ एक साम्यवादी दल है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की शुरुआत 17 अक्टूबर, 1920 को ताशकंद में हुई। एमएन रॉय, उनकी पार्टनर इवलिन ट्रेंट राय, अबानी मुखर्जी, रोजा फिटिंगॉफ, मोहम्मद अली, मोहम्मद शफ़ीक़, एमपीबीटी आचार्य ने सोवियत संघ के ताशकंद में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के गठन की घोषणा की थी।

15. संविधान सभा के संवैधानिक सलाहकार के पद पर सर्वप्रथम किसे नियुक्त किया गया था?

Ans:  बी.एन.राव

  • बेनेगल नरसिम्हा राव भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी एवं अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के न्यायाधीश थे। भारतीय संविधान के  निमार्ण के समय ये संवैधानिक सलाहकार थे। इन्होंने और सच्चिदानंद सिन्हा ने भारतीय संविधान का प्रथम प्रारूप निर्माण किया

16. रैयतवाड़ी व्यवस्था को सबसे पहले कहां लागू किया गया था?

Ans: मद्रास (वर्तमान चेन्नई), तमिलनाडु के बारामहल जिले में रैयतवाड़ी व्यवस्था सर्वप्रथम लागू की गई

  • भूमि कर व्यवस्था को पहली बार 1792 ई. में मद्रास के ‘बारामहल’ ज़िले में लागू किया गया।
  • रैयतवाड़ी व्यवस्था में प्रत्येक पंजीकृत भूमिदार भूमि का स्वामी होता था, जो सरकार को लगान देने के लिए उत्तरदायी होता था। भूमिदार के पास भूमि को रहने, रखने व बेचने का अधिकार होता था।
  • इस व्यवस्था में भूमि कर न देने की स्थिति में भूमिदार को, ठभूस्वामित्व के अधिकार से वंचित होना पड़ता था।
  • इस व्यवस्था को मद्रास, बम्बई एवं  असम के ज्यादातर भागों में लागू किया गया।

17. रैयतवाड़ी व्यवस्था में कुल ब्रिटिश भारत का कितना भू-क्षेत्र सम्मिलित था?

Ans: 51%

  • रैयतवाड़ी ( कृषक+ बंदोबस्त) व्यवस्था ब्रिटिश कंपनी द्वारा बनाई ऐसी व्यवस्था थी, जिसमें सरकार रैयतों (किसानों) से प्रत्यक्ष तौर पर भू-राजस्व का प्रबंधन करती है। 1820 में मद्रास के तत्कालीन गवर्नर टौमस मुनरो ने इस व्यवस्था को मद्रास (वर्तमान-चेन्नई), बंबई (वर्तमानमुंबई) सिंध और असम के कुछ क्षेत्रों में लागू किया। भारत में ब्रिटिश साम्राज्य के कुल भूभाग के 51% भूमि पर यह व्यवस्था लागू थी।
  • इस व्यवस्था को लागू करने का ब्रिटिश सरकार का उद्देश्य अपनी आय में वृद्धि करना के साथ जमींदार वर्ग को समाप्त करना था।

18. ‘अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस’ के प्रथम अध्यक्ष कौन थे?

Ans: लाला लाजपत

  • केसरी’ लाला लाजपत राय महान क्रांतिकारी थे। 1920 ई. में एम.एन जोशी, जोसेफ, बैपटिस्ट तथा लाला लाजपत राय के प्रयासों से अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन की स्थापना हुई। ‘अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस’ (AITUC) के प्रथम अध्यक्ष लाला लाजपतराय, उपाध्यक्ष जोसेफ बैप्टिस्टा और महामंत्री दीवान चमनलाल थे। वी.पी.वाडिया ने जब भारत में ‘मद्रास श्रमिक संघ’की स्थापना की, तब लाला लाजपत राय के अथक प्रयास 1926ई. ‘श्रमिक संघ अधिनियम’ पारित किया गया।

18. दक्षिण भारत जनजातीय विद्रोहों का प्रमुख केंद्र कहाँ था?

Ans: विशाखापत्तनम एजेंसी

18.  मराठा राज्य का दूसरा प्रवर्तक” किसे कहा जाता है?

Ans: बालाजी विश्वनाथ

  • पेशवा बालाजी विश्वनाथ, वे 5 वें पेशवा थे।18 वीं शताब्दी के दौरान मराठा साम्राज्य पर प्रभावी नियंत्रण हासिल किया और मराठा साम्राज्य को मजबूत करने में मदद की, उन्होंने मुगल शासक औरंगजेब के लगातार गृहयुद्ध और लगातार हमले से बचाया गया था। उन्हें “मराठा राज्य का दूसरा संस्थापक” कहा जाता था। बालाजी विश्वनाथ’ की सेवाओं से मराठा साम्राज्य अपने गौरवपूर्ण शक्ति पुनःस्थापित करने में काफ़ी हद तक सफल हुआ। इसीलिए बालाजी विश्वनाथ द्वारा की गई महत्त्वपूर्ण सेवाओं का पारितोषिक युवा मराठा सम्राट शाहूजी ने उसे उसके जीते जी ही दे दिया था। शाहू ने पेशवा का पद अब बालाजी विश्वनाथ के परिवार के लिए वंशगत कर दिया। बालाजी विश्वनाथ का निधन 12 अप्रैल 1720 को हुआ था।

Leave a Comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s